एग्जिट पोल के उलट आएंगे नतीजे : आगा यूनुस

0
560

लोकसभा चुनाव के आए एग्जिट पोल जो अब तक 15 से 20 सालो से जनता के सामने आजाद मीडिया पर बट्टा लगाने वाले चैनलों ने पेश किया है। वो अब तक लगभग पूरी तरह गलत साबित हुए। जिसमे लोकसभा 2004, 2009, 2014, उ. प्र. विधानसभा 2017, दिल्ली, बिहार, छत्तीसगढ, मध्यप्रदेश, विधानसभा शामिल हैं। फिर भी वो देश के नंबर 1 चैनल बने रहें हैं। यह बातें कांग्रेस के महानगर महासचिव आगा यूनुस ने कही। उन्होंने कहा कि नीचे कुछ सालो की डिटेल दी गयी है। लेकिन लोकसभा 2019 के एग्जिट पोल को अलग अलग चैनलों का देखेंगे, तो इनमे आपस में विरोधाभास की पराकाष्ठा है। 17 मई को चुनाव प्रचार समाप्त वाले दिन पहली बार प्रेस कांफ्रेंस मे बैठे पीएम ने 56 मिनट में से 17 मिनट करीब मन की बात की। जिसमे कहा कि हम 300 पार जीत गए। बहुमत की सरकार दोबारा बन गई। जबकि अभी देश मे 59 सीटों का चुनाव 19 मई को होना था। यानि जीतेगें, संभावना जैसे शब्द नहीं, जीत जाने का कान्फिडेंस अपने आप मे कई सवाल खडे करता है। शायद उसी का अमलीजामा एग्जिट पोल पर कुछ चैनल कर रहे हैं। क्या ये देश की जनता को पहले से हजम करने के लिए आकडे दिए जा रहे हैं, और दूसरो को साथ आने का न्योता तो नहीं? क्या इवीएम की जो गायब होने की खबर का कोई सुराग मिला। कहीं कोई खेल तो नहीं? अगर सब ठीक-थक रहा तो रिजल्ट पहले की तरह आना चाहिए। यानि एग्जिट पोल से उलट। देशवासी इनकी टीआरपी बढाने के बजाए 23 तारीख का इंतजार करें। यूपीए अप्रत्याशित सीट हासिल करेगी, और जनता की सरकार कांग्रेस की अगुवाई में बनेगी।