11 वर्ष की बच्ची ने रखा पहला रोजा, ऐसा गुजरा दिन…

0
94

रमजान के पाक माह में शुक्रवार को पटवारी का नगला निवासी मो. ज़ाकिर तथा नौशाबा की 11 वर्षीय पुत्री कुमारी स्वालेहा ज़ाकिर ने अपना पहला रोज़ा रखा। कु. स्वालेहा ज़ाकिर की रोज़ा कुशाई का भव्य समारोह नगला पटवारी स्थित एसआर पैलेस में आयोजित हुआ जिसमें स्वालेहा ज़ाकिर के परिजनों, कुंबा ब्रादरी के लोगों के अतिरिक्त शहर तथा सिविल लाइंस के गणमान्य व्यक्तियों ने बड़ी संख्या में भाग लेकर रोज़ा अफतार किया तथा स्वालेहा ज़ाकिर को उपहार भेंट कर उसका उत्साहवर्धन किया।

कु.स्वालेहा ज़ाकिर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के एबीके हाई स्कूल (गर्ल्स) में 7वीं कक्षा की छात्रा है। कु0 स्वालेहा ज़ाकिर ने बताया कि अम्मी नौशाबा, अब्बू मो. ज़ाकिर बहनों अफशां, बुशरा, इफरा, तथा भाई मोहम्मद तलहा को रोज़ा रखते देख उनका मन भी राज़ा रखने का होता था परन्तु अब्बू तथा अम्मी की आज्ञा ना होने के कारण वह पहले रोज़ा ना रख सकीं।

उन्होंने बताया कि रोज़े का दिन भली प्रकार गुज़रा सुबहा सबके साथ दादी सरताज बेगम ने सहरी खिलाई जिसके बाद फज्र की नमाज़ अदा की। उसके बाद स्कूल गई, वहां से वापसी पर ज़ोहर तथा अस्र की नमाजे़ अदा कीं इस प्रकार समय का पता ही नहीं चला। अब मेने सोच लिया है कि पूरे रोज़े रखूंगी तथा हर वर्ष रखा करूंगी।