लेफ्टिनेंट कर्नल नितिन भाटिया मेमोरियल ट्रस्ट ने 200 से ज्यादा लोगों को मोतियाबिन्द के कराये आपरेशन

0
331

फ्रेंड्स फॉर कॉज फाउंडेशन एवं लेफ्टिनेंट कर्नल नितिन भाटिया मेमोरियल ट्रस्ट की ओर से गिफ्ट ए साइट प्रोजेक्ट 2018 के तहत मोतियाबिन्द बीमारी से पीड़ित लोगों के रजिस्ट्रेशन हेतु शुक्रवार को जीटी रोड आवास विकास कालोनी स्थित मास्टर कम्प्यूटर के पास एक कैम्प लगाया गया जिसमें आंखों की बीमारी मोतियाबिन्द से पीड़ित लोगों जांच नेत्र विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा की गयी। इस कैम्प में 1500 से ज्यादा लोगों ने पंजीकरण कराया और जिन लोगों की नजर कमजोर थी उनमें से 1000 से ज्यादा लोगों को नजर के चश्मे निशुल्क वितरित किये गये। इस अवसर डा.प्रशान्त शुक्ला एवं गांधी आई हास्पीटल की चिकित्सकों की टीम ने 1500 से ज्यादा लोगों की आखों का परीक्षण किया। जिन लोगों की आखों में मोतियाबिन्द की शिकायत पाई गयी उनमें से 200 से ज्यादा लोगों को आपरेशन हेतु गांधी आई हास्पीटल में भर्ती करने हेतु भेजा गया।
यह जानकारी फ्रेंड्स फॉर कॉज फाउंडेशन के डायरेक्टर एवं लेफ्टिनेंट कर्नल नितिन भाटिया मेमोरियल ट्रस्ट के ट्रस्टी योगेश भाटिया ने दी। उन्होंने कहा कि उनके भाई लेफ्टिनेंट कर्नल नितिन भाटिया सेना में हैलीकाप्टर पाइलट थे उनकी 2011 चीन बार्डर सियाचिन में शहादत हो गयी थी। उस साल उन्होंने लेफ्टिनेंट कर्नल नितिन भाटिया के याद में 25 लोगों के मोतियाबिन्द के आपरेशन कराये और तबसे अब तक इन सात सालों में लगभग 1162 लोगों के मोतियाबिन्द के आपरेशन कराये जा चुके हैं। और 5000 से ज्यादा लोगों को चश्मों को वितरण हो चुका है। उन्होंने बताया कि वे एक एनआरआई हैं वे हर साल कनाडा से दो महीने के लिये भारत आकर अपने लेफ्टिनेंट कर्नल नितिन भाटिया के याद में सैकड़ों लोगों केे मोतियाबिन्द के आपरेशन कराते हैं। यह कैम्प अब अलीगढ, गोवर्धन, बरसाना, दिल्ली, पंजाब एवं राजस्थान में भी लगाये जाते हैं।
इस कैम्प के लिए उड़ान सोसायटी के ज्ञानेंद्र मिश्रा, इम्मानुएल हास्पीटल के आशीष पॉल, मैडिक्स के वॉलंटियर सरताज आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here