कमर तोडू महंगाई के मुद्दे से ध्यान भटकाने को मंदिर-मस्जिद का शिगूफा छोड़ रही सरकार : आगा युनुस

0
178

हाय महंगाई, हाय महंगाई डायन खाए जात है । ये वाक्य शायद आज के परिपेछ मे बिल्कुल सटीक बैठता है। महंगाई सितंबर 2018 मे 16.65% की तुलना मे अक्टूबर 2018 मे यह बढोतरी 18.44% रही। उक्त बातें कांग्रेस के महानगर सचिव आगा यूनुस ने कही। उन्होंने कहा कि पेट्रोल में 19.85% महंगाई बढी जबकि डीजल मे 23.51% , एल पी जी मे 31.39% महंगाई बढ़ी । ईधन व ऊर्जा सब महंगा। गैस का सिलंडर ₹ 960 /- पेट्रोल 90 व डीजल की अत्यअधिक वृद्धि दर से लगता है कि डीजल जल्द ही पेट्रोल को पटखनी दे देगा। सरकार और कंपनियां मस्त ,और जनता त्रस्त का दौर चल रहा है । आखिर देश की जनता कह रही है कि: जीए तो, जीए कैसे, और चलें तो चलें कैसे, महंगाई के इस दौर में। आज रोटी, रोजगार, महंगाई, विदेशों मे मौजूद भारत का धन, शिछा, स्वास्थय, लोकपाल, बरबाद होती सरकारी संस्थाए व कंपनिया, देश की संवैधानिक संस्थाओ यानि लोकतंत्र के खंभो पर होता प्रहार। भाजपा वाले जनता के असल मुद्दो पर बात न कर, चुनावी साल के आखिरी पडाव पर लोगों का ध्यान भटकाकर मंदिर – मस्जिद, हिंदु – मुस्लिम, बाबर, खिलजी, जैसी बातो को आगे कर अपने को देश के असल सवालों से बचना चाहते है। लेकिन जनता सब समझ चुकी है, और अब इनको 2019 मे सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने के लिए तैयार बैठी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here