सिग्नेचर ब्रिज, कांग्रेस की योजना पर आम आदमी पार्टी के द्वारा क्रेडिट लेने पर कांग्रेस के महानगर महासचिव ने उठाए सवाल

0
105

सिग्नेचर ब्रिज की परिकल्पना कांग्रेस पार्टी की तत्कालीन मुख्यमंत्री माननीया शीला दिच्छित जी ने 2004 मे इस प्रोजेक्ट को मंजूरी देकर दिखाया कि वो विकास का दूसरा नाम है । शीला दीक्षित  ने इस अकल्पनीय, गगन चुंबी, दिल्ली की सबसे ऊंचाई (कुतुबमीनार से भी ऊंचा) का मुकाम हासिल कर इस अंतराष्ट्रीय स्तर के पुल का निर्माण कार्य शूरु किया । 13 साल मे पूरे हुए इस पुल को काफी समय तक रोकने वाली आप सरकार ने जिस प्रकार अकेले क्रेडिट लेने का काम किया वो बेहद हैरान करने वाला है ।

K

कांग्रेस सरकार ने अपनी अकल्पनीय सोच को इस पुल के जरिए अंजाम तक पहुंचाया, जब काम शूरु हो गया वो पूरा तो होगा ही। इनको ये सोचना चाहिए कि फीता काटने का नसीब का कारण कांग्रेस सरकार है। कांग्रेस सरकार देश मे विकास के परिचायक के रूप मे जानी जाती है। शीला दीक्षित की सरकार मे जितने कार्य हुए उसके आसपास किसी सरकार ने विकास कार्य दिल्ली में नही किया। आज जो फीता काट रहें है। उनके लिए एक शेर अर्ज है : ये जो फल तोड रहे हो, पके पकाए हुए । ये पेड तुम्हे मिलें है, लहे लगाए हुए।। देश के कोने कोने तक इस सच्चाई को पहुंचा कर देश को सच्चाई से अवगत कराने का आहवान करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here