दिल्ली में मासूम के साथ रेप , गुस्साए स्थानीय लोगों ने किया 10 पुलिस कर्मियों को घायल…

0
293

दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में 11 वर्षीय बच्ची के साथ दरिंदगी के मामले को लेकर स्थानीय लोगों में काफी गुस्सा भर गया है। शुक्रवार रात को छतरपुर-महिपालपुर रोड पर लोगों ने प्रदर्शन किया। स्थानीय लोग दुष्कर्म के आरोपी को पुलिस से खुद के हवाले करने की मांग कर रहे थे, ताकि वह आरोपी को खुद सजा दे सकें। गुस्साए लोगों और पुलिस के बीच झड़प में कई लोग जख्मी हुए हैं। घायलों में एसीपी समेत 10 पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। आक्रोशित लोगों ने पथराव भी किया है।

पुलिस ने लोगों को खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस भी छोड़ी। प्रदर्शनकारियों ने दर्जनों वाहनों में तोड़-फोड़ की, इसमें एक पुलिस का वाहन भी शामिल है। वसंत कुंज पुलिस स्टेशन में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने देर रात तक लोगों को रंगपुरा पहाड़ी पर घेरे रखा और किसी को बाहर नहीं निकलने दिया। इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ था।

बता दें कि, वसंत कुंज इलाके में 11 वर्षीय बच्ची के साथ रेप किया गया था। आरोपी ने दुष्कर्म के बाद बच्ची को लहुलूहान हालत में झाड़ियों में फेंक दिया था। बच्ची को एम्स के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था। वसंतकुंज पुलिस ने 11 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म के आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने बच्ची के साथ दुष्कर्म करने से पहले दिन में एक और बच्ची का गलत नियत से अपहरण किया था। बच्ची की मां की सतर्कता के चलते वह बच्ची का अपहरण नहीं कर सका। अगले दिन बच्ची की मां ने आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी ने नशे की हालत में दोनों वारदात को अंजाम दिया।

आरोपी ने 11 वर्षीय बच्ची को कई जगह दांतो से काट लिया था। वारदात के तीसरे दिन भी बच्ची एम्स में भर्ती रही। उसके कई ऑपरेशन किए गए हैं। पुलिस ने शुक्रवार दोपहर को आरोपी को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इस मामले में पुलिस की लापरवाही सामने आई है।

दरिंदगी के दौरान आरोपी ने बच्ची को शरीर पर दांतों से काट लिया था। बच्ची के कपड़े भी फाड़ दिए थे। बच्ची को खून को रिसाव शुरू हो गया, तो वह बच्ची का मौके पर छोड़कर फरार हो गया। बच्ची फटे कपड़ों में घर पहुंची तो परिजनों को पता लगा। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने बच्ची को एम्स में भर्ती कराया। बच्ची को खून का बहुत ज्यादा रिसाव हुआ है। उसके कई ऑपरेशन हुए हैं, उसकी हालत गंभीर हो गई थी।

दक्षिण-पश्चिमी जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार आरोपी प्रकाश ने बुधवार दिन में एक पांच वर्षीय एक बच्ची का अपहरण कर लिया था और उसे जंगल में ले जा रहा था। तभी बच्ची को ले जाते हुए बच्ची की मां ने देख लिया था। शोर मचाने पर आरोपी बच्ची को मौके पर छोड़कर जंगल में भाग गया। उसने रात में 11 वर्षीय बच्ची को अपनी हवस का शिकार बना डाला। पांच वर्षीय बच्ची की मां ने आरोपी प्रकाश को बृहस्पतिवार को दिन में रंगपुरी पहाड़ी के पास घूमते हुए देख लिया और स्थानीय लोगों की मदद से पकड़ लिया और इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस की पूछताछ में उसने 11 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म की बात स्वीकार की।

पुलिस की लापरवाही सामने आई
इस मामले में वसंतकुंज (साउथ) पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। आरोपी ने बुधवार दोपहर को पांच वर्षीय बच्ची के अपहरण का प्रयास किया। घटना के बाद संतकुंज थाना पुलिस सक्रिय हो जाती और आरोपी को पकड़ लेती, तो 11 वर्षीय बच्ची केसाथ दुष्कर्म की घटना नहीं होती। मगर पुलिस ने पहली वारदात को गंभीरता से नहीं लिया।

आरोपी प्रकाश पहले भी दिल्ली आ चुका है
आरोपी प्रकाश करीब चार-पांच दिन पहले दिल्ली आया था। वह वसंतकुंज इलाके में कबाड़ बीनने का काम करता था। वह फ्लूड व अन्य चीजों का नशा करता था। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि आरोपी ने पहले तो किसी और वारदात को अंजाम तो नहीं दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here