INDEPENDENCE DAY: हिंदू संगठनों ने मिशनरी स्कूवल में फिर फेराया तिरंगा क्या है इस की वजह जाने….

0
147

देश आज 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। साल 1947 में आज ही के दिन हमारा देश दासता की जंजीरों से मुक्त हुआ था। यह आजादी न केवल अंग्रेजी शासन से मिली थी, बल्कि विदेशी सोच और सलीके भी यहीं से खत्म हुए थे। इसके बाद रखी गई नए आजाद हिंदुस्तान की नींव। नींव एक ऐसा देश बनाने की जो भले ही सोने की चिड़िया न रहा हो पर दोबारा अपना वही रुतबा हासिल करने का माद्दा रखता हो। हर कोई 15 अगस्त को  तिरंगा फेराता है|

लेकिन यहां एक मामला सामने आया है कि मध्य प्रदेश के जबलपुर में हिन्दू संगठनों ने एक क्रिश्चयन मिशनरी स्कूल में प्रिंसिपल से जबरन तिरंगा झंड़ा फहरवाया। यह घटना 16 अगस्त की है। रिपोर्ट के मुताबिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के माता-पिता ने स्कूल पर आरोप लगाया कि वहां पर 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम आयोजन नहीं किया गया था। और विश्व हिन्दू परिषद के लोगों के साथ स्कूल पहुंचे और वहां जमकर हंगामा हुआ।

स्कूल के एक शिक्षक ने कहा कि कुछ बच्चों के माता-पिता और वीएचपी और बजरंग दल के सदस्यों ने प्रिंसिपल के साथ गरमागरम बहस की और उनसे माफीनामा लिखवाया, जिसमें कहा गया कि उन्होंने 15 अगस्त को बच्चों को स्कूल ना बुलाकर गलती की थी और ये गलती फिर से नहीं दोहराई जाएगी। कैथोलिक चर्च के जनसंपर्क अधिकारी मारिया स्टेफन ने कहा कि कुछ माता-पिता और कुछ लोगों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की और इसे राष्ट्र-विरोधी करार दिया।

खमरिया पुलिस स्टेशन के इंचार्ज जे मसराम ने कहा कि स्कूल प्रशासन को पुलिस की ओर से सुरक्षा मुहैया कराई गई थी, लेकिन स्कूल प्रिंसिपल द्वारा तिरंगा फहराये जाने और माफी मांगे जाने के बाद सुरक्षा वापस ले ली गई है। स्कूल के अधिकारियों ने दावा किया है कि उन्होंने बुधवार को स्कूल में बच्चों को नहीं बुलवाया था क्योंकि मौसम विभाग ने उस दिन बारिश की भविष्यवाणी की थी, यही नहीं स्कूल का मैदान भी भीगा हुआ था। स्कूल के अधिकारियों ने दावा किया कि स्वतंत्रता दिवस के दिन उन्होंने स्कूल में सदस्यों के साथ तिरंगा फहराया था|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here