क्यों पुरुष अपनी सुंदर बीवियों का कर देते है ऐसा बुरा हाल वजह है हैरान कर देने वाली जाने…

0
332

नई दिल्ली।  म्‍यांमार में मगनचिन और मुन ऐसी ट्राइब है जहां पुरुष अपनी बीवियों को कुरूप बनाकर रखते हैं। इसके लिए वे कोई कसर नहीं छोड़ते। वे महिलाओं के चेहरे पर भद्दे टैटू बनवाकर रखते हैं। ये टैटू सूअर और गाय की चर्बी के बने होते हैं जिससे घृणा और बढ़ जाती है। ये वाइल्‍ड टैटू किसी रंग से नहीं बल्कि जंगली पौधों से बनाए जाते हैं। ये रिवाज आज कल का नहीं है बल्कि पुराना है। अब सवाल ये उठता है कि आखिर ऐसी अजीब अमानवीय परंपरा की वजह क्‍या है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इसके पीछे असुरक्षा का कारण है। म्‍यांमार में बरसों पहले राजशाही थी और निर्दयी राजा अपने क्षेत्र की सुंदर महिलाओं पर गलत नजर रखते थे। उन्‍हें उठवा लिया जाता था। शारीरिक शोषण के अलावा उन्‍हें सेक्‍स स्‍लेव बनाकर रखा जाता था। इस समस्‍या से निपटने के लिए वहां के पुरुषों ने अपनी महिलाओं का सौंदर्य ही बिगाड़ना शुरू कर दिया।

इसके पीछे उनकी सोच ये थी कि यदि महिलाओं में आकर्षण ही नहीं रहेगा तो उन्‍हें कोई उठाकर ही नहीं ले जाएगा। यह परंपरा आज भी कायम है। ऐसा नहीं है कि ये टैटू केवल दिखने में बेहूदा हैं, बल्कि बनवाते समय भी ये कष्‍ट देते हैं। दर्द के मारे महिलाओं की चीख निकल जाती है। सेहत की दृष्टि से भी ये ठीक नहीं हैं और संक्रमण फैलाते हैं। इनसे खून रिसता है, तकलीफ होती है लेकिन ये चलन बदस्‍तूर जारी रहता है।

इसके पीछे उनकी सोच ये थी कि यदि महिलाओं में आकर्षण ही नहीं रहेगा तो उन्‍हें कोई उठाकर ही नहीं ले जाएगा। यह परंपरा आज भी कायम है। ऐसा नहीं है कि ये टैटू केवल दिखने में बेहूदा हैं, बल्कि बनवाते समय भी ये कष्‍ट देते हैं। दर्द के मारे महिलाओं की चीख निकल जाती है। सेहत की दृष्टि से भी ये ठीक नहीं हैं और संक्रमण फैलाते हैं। इनसे खून रिसता है, तकलीफ होती है लेकिन ये चलन बदस्‍तूर जारी रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here