क्यों नमाज पढ़ने पर हुआ विवाद, इमाम को थाने ले गई पुलिस

0
243

नमाज पढ़ने को लेकर शुक्रवार को एक बार फिर से विवाद सामने आया। बसई चौक पर एक नई जगह करीब 250 लोगों के नमाज पढ़ने की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और आगे से वहां नमाज न पढ़ने की हिदायत दी। पुलिस ने इमाम को थाने ले जाकर लिखित में बयान लिया कि आगे से प्रशासन के तय किए गए स्थानों के अलावा वह कहीं नमाज नहीं पढ़वाएंगे। इसके बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पंचायत की। शनिवार को ये लोग सीपी और डीसी से मिलेंगे।

बसई चौक पर एक खाली प्लॉट में चारदीवारी के भीतर करीब 250 लोग नमाज पढ़ने के लिए इकट्ठा हुए। इधर, सेक्टर-9ए पुलिस को सूचना मिली तो तुरंत डीसीपी को सूचना दी गई। कुछ ही देर में पुलिस मौके पर पहुंची और नमाज पूरी होने के बाद लोगों को समझाया गया कि यह स्थान नमाज पढ़ने के लिए तय नहीं किया गया है। उन्हें हिदायत दी गई कि आगे से वे तय किए गए स्थानों के अलावा कहीं और नमाज न पढ़ें। पुलिस यहां नमाज पढ़वा रहे इमाम अब्दुल वाहिद को साथ थाने ले गई। उनसे किसी और जगह नमाज न पढ़वाने के संबंध में लिखित स्टेटमेंट ली गई।

मुस्लिक एकता मंच गुड़गांव के चेयरमैन हाजी सज्जाद खान ने बताया कि जिस स्थल पर शुक्रवार को नमाज पढ़ी गई उसके ठीक सामने के प्लॉट को जिला प्रशासन ने तय किया था। उस प्लॉट के मालिक के मना करने पर सामने के प्लॉट में नमाज पढ़ी जाने लगी। अब पुलिस यहां नमाज पढ़ने से मना कर रही है। वहीं सेक्टर-9ए थाना एसएचओ इंस्पेक्टर सुधीर ने बताया कि बसई चौक के आसपास कोई भी स्थान नमाज के लिए तय नहीं किया गया था। यहां पहली बार नमाज पढ़ी गई। किसी भी नए स्थान पर नमाज नहीं पढ़ने दी जाएगी। प्रशासन से बातचीत कर जो स्थान तय किए गए थे, वहां नमाज पढ़ने की कोई मनाही नहीं है।

हाजी सज्जाद खान ने आरोप लगाया कि पुलिस ने मौके पर लोगों को धमकाया। इमाम को भी जबरन पकड़ थाने ले जाया गया। बड़ी संख्या में लोग थाने पहुंचे तो इमाम को छोड़ा गया। इसके बाद सभी मौलाना/इमाम इकट्ठे हुए और पंचायत की। इसमें तय किया गया कि शनिवार को इस मामले में पुलिस कमिश्नर व डीसी से मिलकर बात की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here