उमर खालिद पर फायरिंग के लिए शेहला रशीद ने ‘रिपब्लिक टीवी’ को ठहराया ज़िम्मेदार, बताई ये वजह

0
251

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) छात्र नेता उमर खालिद पर कुछ अज्ञात लोगों ने सोमवार (13 अगस्त) को संसद भवन के पास कांस्टीट्यूशन क्लब के ठीक बाहर फायरिंग कर दी। हालांकि उन्हें कोई गोली नहीं लगी और वह सकुशल बच गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा है कि जब खालिद क्लब के गेट पर थे तब 2 गोलियां चलाई गई। खालिद यहां ‘यूनाइटेड अगेंस्ट हेट’ संगठन के ‘खौफ से आजादी’ नामक एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे।

एक चश्मदीद ने बताया कि उमर खालिद हमारे साथ एक कार्यक्रम में था। जब हम एक चाय के स्टॉल पर थे तभी सफेद शर्ट पहने एक शख्स पास आया उसने पहले धक्का मारा और फिर फायरिंग कर दी। धक्के की वजह से खालिद गिर गया और गोली उसके पास से निकल गई। हमने उसको पकड़ने की कोशिश की लेकिन उसने हवा में कई बार फायरिंग और वह भागने में कामयाब हो गया।

समाचार एजेंसी पीटीआई/भाषा के मुताबिक खालिद के साथ कांस्टीट्यूशन क्लब गए सैफी ने कहा, ‘‘हम चाय पीने गए थे जब 3 लोग हमारी तरफ आए। उनमें से एक ने खालिद को जकड़ लिया जिसका विरोध करते हुए खालिद ने खुद को छुड़ाने की कोशिश की।’’ सैफी ने कहा, ‘‘गोली चलने की आवाज आने के साथ वहां अव्यवस्था मच गई। लेकिन खालिद घायल नहीं हुए। आरोपियों ने भागते समय एक और गोली चलाई।’’

बाद में खालिद ने कहा, ‘‘देश में खौफ का माहौल है और सरकार के खिलाफ बोलने वाले हर व्यक्ति को डराया-धमकाया जा रहा है।’’ पुलिस घटनास्थल पर है और मामले की जांच कर रही है। उसने वह हथियार जब्त कर लिया है जो आरोपियों के भागते समय उसके हाथों से गिर गया था।

लोगों ने दिल्ली पुलिस और मीडिया पर उठाए सवाल 

उमर खालिद पर हुए हमले के बाद दिल्ली पुलिस और कुछ मीडिया संस्थान सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई है। एक यूजर ने लिखा है कि राजधानी दिल्ली में 15 अगस्त के ठीक पहले कड़े सुरक्षा इंतज़ाम के बीच, शख़्स का उमर ख़ालिद पर गोली चलाकर भाग निकलना कई सवाल उठाता है।

वहीं, जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष और कार्यकर्ता शेहला रशीद ने हमले की निंदा की है। उन्होंने इसे मीडिया द्वारा फैलाई जा रही नफरत का परिणाम बताया है। राशिद ने ट्वीट कर कहा, ‘चौंकाने वाला और बेहद निंदाजनक: एक लड़के ने उमर खालिद पर दिल्ली में हमला किया और शूट करने की कोशिश की। यह रिपब्लिक टीवी और अन्य नफरत मीडिया द्वारा घृणा की नफरत का सीधा परिणाम है। मैंने उमर से बात की। वह ठीक है, लेकिन हमें उसकी सुरक्षा के बारे में बहुत चिंतित होना चाहिए।’

बता दें कि फिलहाल दिल्ली पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। डीसीपी मधुर वर्मा ने कहा, ‘इसकी पुष्टि की जा रही है। उमर खालिद ने कहा कि उस पर हमला किया गया। किसी ने उमर खालिद को धक्का दे दिया। इसके बाद उसने खालिद पर गोली चलाने की कोशिश की, लेकिन तुरंत गोली चल नहीं पाई। लोगों ने शख्स का पीछा किया और हमलावर ने हवा में गोली चलाई।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here