शिवसेना ने शिक्षा में मुस्लिमों को आरक्षण देने की उठाई मांग, ओवैसी की पार्टी ने किया समर्थन

0
243

इन दिनों महाराष्ट्र मराठा आरक्षण की मांग में झुलस रहा है। सत्ताधारी बीजेपी ने हालांकि मराठाओं को आरक्षण देने का आश्वासन दिया है, लेकिन इस शिवसेना ने मुसलमानों के लिए भी शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण की मांग उठा दी है। शिवसेना की इस मांग का ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने स्वागत किया है|

मुस्लिमों को आरणक्ष देने के पक्ष में शिवसेना

सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवसेना प्रमुख उधव ठाकरे ने कहा था कि मराठों के आलावा धांगड़ कोली और मुस्लिमों को भी आरक्षण मिलना चाहिए। ठाकरे ने कहा था कि आरक्षण के इस मुद्दे पर पार्टी केंद्र और राज्य सरकार का समर्थन करेगी। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उद्धव ठाकरे से सवाल किया गया कि क्या मुस्लिमों को आरक्षण मिलना चाहिए तो इस पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर मांग जायज है तो जरूर पूरी होनी चाहिए।

ओवैसी की पार्टी ने किया फैसले का स्वागत

वहीं शिवसेना की इस मांग को लेकर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने खुशी जताई है। AIMIM विधायक इम्तियाज जलील का कहना है कि यह साकारात्मक सोच है। बीजेपी को इस बारे में सोचना चाहिए। खासतौर पर ऐसे समय में जब बीजेपी के कुछ नेता मुस्लिमों को निशाना बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुस्लिमों के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण की मांग पर बॉम्बे हाईकोर्ट भी अपनी मुहर लगा चुका है। यह बहुत ही अफसोसजनक है कि राज्य सरकार आरक्षण के इस फैसले को लागू नहीं कर पाई है।

मराठा आरक्षण के लिए कर रहे हैं आंदोलन

आपको बता दें कि इन दिनों महाराष्ट्र में मराठा समुदाय नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहा है। राज्य की आबादी का करीब 30 प्रतिशत हिस्सा मराठा समुदाय का है। पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के एक संपादकीय में लिखा था कि एक बार मराठा समुदाय को आरक्षण दे दिया गया तो दूसरे लोग भी सड़कों पर उतरेंगे और एक नई समस्या खड़ी हो जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here