महिला आरक्षण के नाम पर केवल राजनेताओं की बहन-बेटियों को ही फायदा- महिला आयोग

0
177

राजधानी दिल्ली में आयोजित महिला आयोग के एक कार्यक्रम में रेखा शर्मा ने एक अलग ही मुद्दा उठाया हैं , उन्होंने कहा की बिल से केवल राजनेताओं की बहन बेटियों को ही फायदा होगा। उन्होंने कहा की उनके पास आरक्षण तंत्र का आरक्षण हैं। उन्होंने तर्क किया हैं की महिलाओं को राजनीती में आने के लिए ापने रस्ते खुद बनाने चाहिए। रेखा शर्मा ने यह बयान तब दिया जब विपक्षी दलों की तरफ से इसी मानसूनी सत्र में लोक सभा और राज्यों की विधान सभा में महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण लागू करने की मांग चल रही थी।

भारत में महिलाओं की राजनीतिक भागीदारी और प्रतिनिधित्व विषय पर आयोजित चर्चा में रेखा शर्मा ने कहा ,” यदि आप मुझसे पूछते हैं तो वास्तव में मेरे पास आरक्षण को लेकर आरक्षण है। आरक्षण की मदद से मेरे और आपके जैसे लोगों के लिए राजनीती में प्रवेश करना मुश्किल होगा।हमें अपना रास्ता खुद बनाना होगा। यह केवल कुछ नेताओं की बीवियों और बेटियों की ही मदद करेगा।

शर्मा के मुताबिक कई महिलाओं को पंचायत स्तर पर चुना गया हैं लेकिन उनके पास उनके द्वारा किये गए कार्यों का सबूत नहीं हैं, उन्हें नहीं पता होता हैं की सरकार ने पंचायत को कितना पैसा दिया और कहाँ खर्च करना होता हैं। महिला आयोग की अध्यक्ष ने की कैई मामले में महिलाओं के पति या भी दस्तावेजों कर मुहर लगा रहे हैं और उनकी जगह बैठकों में शामिल होते हैं।

बताया जाता हैं शर्मा ने भारत की लगभग 50 फीसदी महिलाओं के को सशक्त करने पर काफी जोर दिया हैं। उन्होंने कहा की अगर 50 फीसदी आबादी को राजनैतिक तोर पर सशक्त नहीं किया जाता है तो हम कैसे आगे बढ़ सकते हैं?
यह तो महिलाओं का अधिकार हैं की वे अपने सारे फैसले खुद लें। महिलाएं अभी भी मताधिकार का प्रयोग करने से पहले अपने पति से राय लेती हैं। शर्मा ने कहा की आमतौर पर चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार को लेकर महिलाएं अनजान हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here