स्वामी अग्निवेश का बयान- RSS की शाखाओं से ऩफरत और हिंसा सीखकर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री बन रहे तभी हो रही ‘मॉब लिंचिग’

0
122

झारखंड के पाकुड़ में मॉब लिंचिंग का शिकार होने के कुछ दिन बाद स्वामी अग्निवेश ने इस मामले पर खुलकर बात की है। उन्होंने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया कि इस मामले में सही कदम नहीं उठाए गए। बोलता हिंदुस्तान से बातचीत में स्वामी अग्निवेश ने 17 जुलाई को कहा कि क्या है मॉब लिंचिंग? और कौन हैं मॉब लिंचिंग की घटनाओं का असली जिम्मेदार?

स्वामी अग्निवेश- 

जिसे आज मॉब लिंचिंग कहा जा रहा है। और जिसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने इतना बड़ा फैसला भी दिया है। भारत के गृहमंत्री राजनाथ सिंह कह रहे हैं कि ये जिम्मेदारी राज्य सरकारों की है। लेकिन इसके लिए असली जिम्मेदार मैं उनको मानता हूं जो घृणा की राजनीति करते हैं, नफरत की राजनीति करते हैं।

संघ ने तैयार किया है मॉब लिंचर

स्वामी अग्निवेश ने देश में बढ़ती मॉब लिंचिंग की घटनाओं के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि छोटे छोटे बच्चों को सुबह चार बजे उठाकर शाखा पर ले जाते हैं। उनके दिमाग में मुसलमानों के खिलाफ, ईसाइयों के खिलाफ जहर घोलते हैं। ऐसी ही ट्रेनिंग दी जाती है। बड़े होकर वो RSS के स्वयंसेवक बनते हैं। और बड़े हो जाते हैं तो प्रधानमंत्री बनते हैं, प्रांतों के मुख्यमंत्री बनते हैं। उनके हाथ में हुकूमत की बागडोर होती है। सभी जगहों पर अपनी ही विचारधारा वालों को बैठाते हैं। तंत्र पर कब्जा करते हैं। और उसके बाद घृणा की परिणति होती है हिंसा के रूप में।

मॉब लिंचिंग पर राजनाथ सिंह का बयान बेशर्मी भरा

ये अचानक कोई भीड़ इक्ट्ठा हो गई और मॉब लिंचिंग कर दिया, ऐसा नहीं है। पहले नहीं होता था ये मॉब लिंचिंग अब कैसे होने लगा? राजनाथ सिंह का ये कहना बिल्कुल गलत और बेशर्मी भरा है कि 1984 में मॉब लिंचिंग हुई थी। मैं उस सांप्रदायिक दंगों की निंदा करता हूं। मैं राजीव गांधी के इस बयान की भी निंदा करता हूं कि बड़ा पेड़ गिरने से जमीन हिलता है। लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि आप उसकी आड़ में घृणा की राजनीति पैदा करो। और उसकी फसल काटो आने वाले चुनाव में।

मोदी के लिए 2019 की तैयारी है मॉब लिंचिंग

नरेंद्र मोदी आपके पास दिखाने के लिए गरीब जनता, आदिवासी, किसान, मजदूर, महिलाओं को कुछ नहीं है। खोखले नारे, खोखले वादे। आपके पास ये एक तरीका है कि गो तस्करों को पकड़ो, मारो और कानून भी हो तब भी मारो। कौन कर लेगा कानून की रखवाली। सरकार हमारी है करो बेटा करो, खुलकर करो। मुख्यमंत्री कह रहे हैं करो, मत्री कह रहे हैं करो, विधायक कह रहे हैं करो।

योजनाबद्ध तरीके से मॉब लिंचिंग करवा रही बीजेपी

मेरे ऊपर हुए हमले के बाद अलवर में क्यों 28 साल के रकबर को मार दिया गया? और किस बेशर्मी से वहां के पांच बार विधायक रहे ज्ञानदेव अहूजा उसका समर्थन कर रहे हैं। कैसे केंद्र के मंत्री कह रहे हैं कि जितनी जितनी मोदी जी की लोकप्रियता बढ़ती जाएगी, उतनी उतनी मॉब लिंचिंग बढ़ती जाएगी। ये केंद्रीय मंत्री मेघवाल जी (अर्जुन राम मेघवाल) का बयान है। ये सब चीज योजनाबद्ध तरीके से हैं। ये मॉब लिंचिंग उस तरीके की नहीं है कि अचनाक कोई भीड़ गुस्से में आ गयी और कुछ कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here