दिल्ली में स्कूल TC लेने गए छात्र की सहपाठियों ने की पीट-पीटकर हत्या

0
124

देश की राजधानी दिल्ली से दिल दहला देने वाली खबर आई है। ज्योति नगर इलाके में  स्कूल के सामने 11वीं कक्षा के छात्र की उसके ही कुछ सहपाठियों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। मृतक की शिनाख्त गौरव (17) के रूप में हुई है।

बुधवार दोपहर के समय गौरव अपनी मां और मौसी के साथ स्कूल में टीसी (ट्रांसफर सर्टिफिकेट) लेने गया था। वहां पहले से मौजूद 8-10 लड़कों ने लातों-घूंसों से हमला कर उसकी हत्या कर दी।

ज्योति नगर थाना पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर 2 नाबालिग लड़कों को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि पुराने झगड़े को लेकर लड़कों ने गौरव को पीट-पीटकर मारा है।

उधर, घटना से नाराज परिजनों ने 100 फुटा रोड बाबरपुर में मृतक का शव रखकर जाम लगा दिया। हालांकि, पुलिस के समझाने पर  उन्होंने जाम खोल दिया।

पुलिस के मुताबिक,  गौरव परिवार के साथ गली नंबर-5, लोहिया वाली गली, बाबरपुर में रहता था। इसके परिवार में मां सुमित्रा, पिता रजी अहमद, एक भाई गोविंदा और दो बहनें गरिमा और हेमलता हैं। गौरव ने इसी साल राजकीय बाल विद्यालय वेस्ट ज्योति नगर से दसवीं परीक्षा पास की थी।

दसवीं के बाद उसे अपने स्कूल में आर्ट्स स्ट्रीम मिल रही थी। उसे कॉमर्स स्ट्रीम में शिवाजी पार्क स्थित स्कूल में 11वीं में दाखिला लेना था। वह बुधवार दोपहर मां व मौसी के लड़के साथ 3.30 बजे अपने पुराने स्कूल टीसी लेने आया था।

स्कूल में टीसी मिलने में देर होने के कारण गौरव ने मां को घर वापस भेज दिया और स्कूल के सामने बने पार्क में पहुंच गया। आरोप है कि इस बीच 8-10 लड़कों ने गौरव को घेरकर बुरी तरह पीटा।

मौसी के लड़के ने सुमित्रा को कॉल कर गौरव की पिटाई करने की सूचना दी। इधर शोर-शराबा बढ़ने पर सभी लड़के फरार हो गए। परिजन मौके पर पहुंचे और गौरव को पहले एक निजी अस्पताल और फिर जीटीबी अस्पताल ले गए।

वहां डॉक्टरों ने गौरव को मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने लड़कों पर पिटाई करने के अलावा गला घोंटने के भी आरोप लगाए हैं। पुलिस ने बृहस्पतिवार को पोस्टमार्टम के बाद गौरव का शव परिजनों के हवाले कर दिया है।

ज्योति नगर थाना पुलिस फरार आरोपियों की तलाश कर रही है। उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर के मुताबिक, लड़कों के बीच पहले झगड़ा हुआ था, इसके बाद बुधवार को गौरव को पीटा गया।

हत्या का मामला दर्ज कर 2 नाबालिग लड़कों को हिरासत में ले लिया गया है, बाकियों की तलाश की जा रही है।

एक सप्ताह पूर्व हुआ था गौरव का कुछ लड़कों से झगड़ा

गौरव के बड़े भाई गोविंदा ने बताया कि पिछले सप्ताह स्कूल के कुछ लड़कों से गौरव का झगड़ा हुआ था। उस समय गोविंदा भी उसके साथ था। बीच-बचाव कराने के दौरान लड़कों ने गोविंदा पर भी हमला कर दिया था।

झगड़ा खत्म होने के बाद लड़के वहां से चले गए। गौरव व लड़कों के बीच झगड़े की क्या वजह थी, इसका पता नहीं चल पाया है। उसके कुछ दोस्त पैसों को लेकर झगड़े की बात कर रहे हैं।

वहीं कुछ का कहना है कि टशन के लिए उन लड़कों ने गौरव पर हमला किया। गोविंदा ने झगड़े की किसी से शिकायत नहीं की। गोविंदा का कहना है कि उसे नहीं पता था कि झगड़े के बाद उसके भाई को मार दिया जाएगा।

गुस्साए परिजनों ने सवा घंटे तक किया सड़क जाम

पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए परिजनों ने बृहस्पतिवार दोपहर मृतक का शव रखकर 100 फुटा रोड, बाबरपुर मेन रोड पर दोनों ओर से जाम लगा दिया।  खबर मिलते ही पुलिस बल सहित पुलिस उपायुक्त खुद मौके पर पहुंचे।

करीब सवा घंटे सड़क बंद रहा। इस दौरान परिजन आरोपी लड़कों को गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। पुलिस उपायुक्त ने परिजनों को समझाकर बताया कि 2 लड़कों को हिरासत में ले लिया गया है। बाकियों की तलाश की जा रही है। पुलिस के आश्वासन के बाद परिजन गौरव का शव लेकर शमशान चले गए। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here