50 लाख आबादी वाला देश ‘क्रोएशिया’ वर्ल्डकप खेल रहा है और हम यहां ‘हिंदू-मुसलमान’ कर रहे हैं : हरभजन सिंह

0
376

फुटबॉल वर्ल्‍ड कप फाइनल से पहले टीम इंडिया के स्पिनर हरभजन सिंह का किया गया एक ट्वीट काफी सुर्खियां बंटोर रहा है। हरभजन ने क्रोएशिया का उदाहरण देते हुए भारत की सियासत को बड़ी नसीहत दी है।

दरअसल, फीफा का फाइनल क्रोएशिया और फ्रांस के बीच खेला गया। भले ही 50 लाख की आबादी वाले क्रोएशिया को इस मुकाबले में जीत नहीं मिली हो लेकिन इस देश के खिलाड़ियों ने सबका दिल जीत लिया है। इंग्लैंड को हराकर फाइनल में जगह बनाने वाले देश की खूब तारीफ की जा रही है। इसी कड़ी में हरभजन ने भी ट्वीट किया।

हरभजन ने अपने ट्वीट में लिखा, लगभग 50 लाख की आबादी वाला देश क्रोएशिया फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप का फाइनल खेलेगा। और हम 135 करोड़ लोग हिंदू मुसलमान खेल रहे है। सोच बदलो देश बदलेगा।

हरभजन के इस ट्वीट को सोशल मीडिया में बेहद पसंद किया जा रहा है। 3,404 लोगों ने इसे अब तक शेयर किया है। वहीं 14,392 लोगों ने इसे लाइक किया है। बहरहाल एक खिलाड़ी के द्वारा देश की सियासत पर किए गए तंज पर हमें सोचने की जरूरत है।

 पीएम मोदी ने फ्रांस के साथ क्रोएशिया को भी दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के साथ-साथ क्रोएशिया को भी बधाई दी है. मोदी ने ट्वीट करके कहा है, ‘’एक बेहतरीन मैच! फ्रांस को फीफा वर्ल्ड कप जीतने के लिए बधाई. पूरे टूर्नामेंट खासकर फाइनल में उन्होंने शानदार खेल दिखाया. मैं साथ ही क्रोएशिया की टीम को उनके उत्साह से भरे खेल के लिए बधाई देना चाहता हूं. उन्होंने वर्ल्ड कप में ऐतिहासिक प्रदर्शन किया है.’’


20  
साल बाद फ्रांस फिर बना फुटबॉल का चैम्पियन

बता दें कि फ्रांस फुटबॉल का नया चैम्पियन बन गया है. 20  साल बाद फ्रांस ने वर्ल्ड चैम्पियन का खिताब फिर एक बार अपने नाम किया है. रूस में खेले गए फाइनल में फ्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से करारी शिकस्त दी है. साल 1998 के बाद दूसरी बार फ्रांस वर्ल्ड चैम्पियन बना और क्रोएशिया वर्ल्ड कप जीतने से एक कदम दूर रह गया.

क्रोएशिया ने जीता करोड़ों फैन्स का दिल

इस विश्वकप में क्रोएशिया ने अपने प्रदर्शन से सबको चौंका दिया. महज 50 लाख की जनसंख्या वाले इस देश ने फुटबॉल वर्ल्ड कप में अपनी अलग पहचान बनाई. कप्तान लुका मोड्रिच इस विश्व कप के सर्वश्रेष्ठ खिलाडी चुने गए. फाइनल में फ्रांस के हाथों मिली 4-2 की हार से क्रोएशिया का वर्ल्ड कप जीतने का सपना अधूरा रह गया. लेकिन इस टीम ने हार कर भी करोड़ों फैंस का दिल जरूर जीत लिया.

बिना कोई मैच हारे फाइनल तक पहुंची क्रोएशिया

क्रोएशिया वो टीम है जो बिना कोई मैच हारे फाइनल तक पहुंची थी. इस टीम ने अर्जेंटीना, रूस और इंग्लैंड जैसी टीमो को मात दे कर अपनी अलग पहचान बनाई. साल 1998, जिस साल फ्रांस पहली बार वर्ल्ड चैम्पियन बना, उसी साल क्रोएशिया ने वर्ल्ड कप में कदम रखा और वर्ल्ड कप में तीसरे नंबर पर रहा.

20 साल में पहली बार वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची क्रोएशिया

20 साल में पहली बार क्रोएशिया वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची और ये इस टीम के लिए बहुत बड़ी बात है. महज 50 लाख की जनसंख्या वाले इस देश ने दिखा दिया कि अगर जज्बा हो तो कुछ भी मुमकिन है.

दिल्ली में क्रोएशिया जैसे बन सकते हैं चार देश

ये देश कितना छोटा है इसका अंदाजा इस बात से लग जाता है कि सिर्फ दिल्ली में क्रोएशिया जैसे चार देश बन सकते हैं. सूरत की जनसंख्या भी क्रोएशिया से ज्यादा है. ये देश भारत के लिए प्रेरणा भी है और सवाल भी कि जब क्रोएशिया ऐसा कर सकता है तो भारत क्यों नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here