विजय माल्या बोला-वोटों के लिए मुझे फासी पर चढ़ाना चाहती है मोदी सरकार

0
339

विजय माल्या ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से बातचीत के दौरान आरोप लगाया कि भारत सरकार वोटों के लिए उन्हें सूली पर लटकाना चाहती है.

उन्होंने कहा, ‘भारत में यह चुनावी साल है. मुझे लगता है कि वे मुझे वापस लाकर सूली पर लटकाना चाहते हैं, इससे उन्हें चुनाव में ज्यादा वोट मिल सकें. यह सब तब हो रहा है जब वह भारत आने को तैयार हैं और बैंकों से सेटलमेंट करना चाहते हैं.’

ब्रिटेन की कोर्ट ने भले ही विजय माल्या के ब्रिटेन में स्थित घर की तलाशी और जब्ती का आदेश दे दिया हो, लेकिन विजय माल्या पर शायद इसका कोई असर नहीं दिख रहा है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से हुई बातचीत में विजय माल्या ने कहा कि वह एजेंसियों के आदेशों का पालन करेंगे, लेकिन उनके पास करने को कुछ नहीं होगा.

माल्या ने कहा कि इसकी वजह ये है कि ब्रिटेन स्थित आलीशान आवास उनके नाम पर नहीं है. भारत ने विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन की कोर्ट में याचिका डाली है. इस मामले में सितंबर महीने की शुरुआत तक फैसला आ सकता है.

कोई छू नहीं सकता परिवार की प्रॉपर्टी

विजय माल्या के मुताबिक, ब्रिटेन में उनकी कोई प्रॉपर्टी नहीं है. उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में जो भी प्रॉपर्टी है वह उनकी मां और बच्चों के नाम पर है. माल्या ने कहा कि उनकी मां और बच्चों की प्रॉपर्टी को कोई छू भी नहीं सकता.

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में उनके नाम बस कुछ कारें और ज्वैलरी ही है, जिन्हें वह कभी भी सौंपने को तैयार हैं. विजय माल्या ने कहा कि वह ब्रिटिश प्रवर्तन अधिकारियों का पूरा सहयोग करेंगे. लेकिन उनके नाम ब्रिटेन में कोई प्रॉपर्टी नहीं है. यहां तक कि उनका परिवार जिस आलीशान मकान में रह रहा है, वह भी उनके नाम नहीं है.

फरार नहीं हुआ, घर वापस आया हूं

मार्च, 2016 में भारत से फरार होने के बाद से ब्रिटेन में रह रहे विजय माल्या ने कहा कि भारत सरकार उन्हें सिर्फ पोस्टर ब्वॉय बनाना चाहती है. उन्होंने कहा कि मुझे भारत सरकार ने भगोड़ा करार दे दिया, जबकि वह तो अपने घर वापस आए हैं.

माल्या ने कहा, ‘मैं हमेशा से इंग्लैंड का निवासी और एनआरआई रहा हूं. तो मैं वापस कहां जाता? इसलिए फरार होने की बात क्यों कही जा रही है? इसके पीछे राजनीति है.’

माल्या ने कहा ‘जांच एजेंसियां लगातार झूठ बोल रही हैं. मैंने पहले ही प्लान भेजा था. लेकिन, कोई जवाब नहीं मिला. मुझे जानबूझकर फरार बताया जा रहा है. जबकि मैं भारत आने को तैयार हूं.’

आपको बता दें, ब्रिटिश हाईकोर्ट ने भारतीय बैंकों की अर्जी पर अपना फैसला सुनाया, जिसमें कहा गया कि 13 बैंकों के संगठन विजय माल्या से संबंधित संपत्तियों की जांच और नियंत्रण के लिए तलाशी ले सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here