कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी को मिली 10 साल की बेटी से रेप की धमकी, मचा हंगामा!

0
247

पिछले दिनों लखनऊ के पासपोर्ट मामले को लेकर सोशल मीडिया पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को काफी ट्रोल किया गया. ये मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि सोमवार को कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी को ट्विटर पर उनकी 10 साल की बेटी से रेप की धमकी मिली है. बताया जा रहा है कि प्रियंका चतुर्वेदी को मध्य प्रदेश के मंदसौर मामले में वायरल हो रहे एक फर्जी मैसेज को लेकर ये धमकी मिली है.

प्रियंका चतुर्वेदी ने मुंबई के गोरेगांव थाने में मामले की शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने कहा, ‘मैंने शिकायत दर्ज कराई है, पुलिस ने उचित कार्रवाई का भरोसा दिया है.’

इससे पहले ट्रोल के आपत्तिजनक ट्वीट को रिट्वीट करते हुए प्रियंका ने कहा, “भगवान राम के नाम से ट्विटर हैंडल चलाकर, पहले तो मेरा गलत बयान लगाते हो, फिर मेरी बेटी के बारे में अभद्र टिप्पणी करते हो, कुछ शर्म हो तो चुल्लू भर पानी में डूब मरो, वरना तुम जैसी नीच सोच वाले इंसान को भगवान राम ही इसका सबक सिखाएंगे.”

इस मामले को लेकर कांग्रेस के कई नेताओं ने प्रियंका चतुर्वेदी को लेकर एकजुटता दिखाई. कांग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी ने कहा, ‘प्रियंका के बारे में अभद्र टिप्पणी करने वाले वही लोग हैं, जिन्होंने कुछ दिनों पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्रोल किया था.’ सिंघवी ने दावा किया है कि सुषमा को बीजेपी द्वारा तैयार किए गए राक्षस (ट्रोल) ही निशाना बना रहे हैं.
वहीं, सत्तारूढ़ पार्टी के प्रवक्ता नलिन कोहली ने चतुर्वेदी को इस मुद्दे को राजनीतिक रंग नहीं देने, बल्कि कानूनी उपाय करने को कहा. कोहली ने इस धमकी की निंदा की और इसे एक सभ्य समाज में खौफनाक और अस्वीकार्य बताया.

कोहली ने कहा, ‘‘यह पूरी तरह से निंदनीय है. खौफनाक है. यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है. अगर कोई व्यक्ति किसी भी उम्र की महिला को रेप की धमकी देता है, तो यह पूरी तरह से निंदनीय है. ऐसे लोगों को यह ध्यान में रखना चाहिए कि एक महिला किसी की बेटी, बहन या पत्नी हो सकती है. एक सभ्य समाज में यह अस्वीकार्य है.”

उधर, राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की नेता सुप्रिया सुले ने भी प्रियंका चतुर्वेदी की बेटी को दी गई रेप की धमकी की निंदा की. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मुद्दे का गंभीरता से संज्ञान लेने की अपील की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here