रामदेव बोले- धर्म को कलंकित करने वाले भगवा बाबाओं को फांसी चढ़ा दो

0
248

कोटा। योग गुरु बाबा रामदेव ने वर्तमान में धर्मगुरुओं पर लगे दुष्कर्म के मामलों पर बड़ा बयान दिया है। रामदेव ने कहा कि जो कोई भी मर्यादा का अतिक्रमण करेगा उसे सजा मिलनी चाहिए। धर्म को कलंकित करने वाले साधुओं को चौराहे पर फांसी पर लटका देना चाहिए।

योग गुरु बाबा रामदेव कोटा में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सोमवार को कोटा पहुंचे। रेलवे स्टेशन पर उनको रिसीव करने के लिए जनप्रतिनिधियों और जिला प्रशासन के आला अधिकारी पहुंचे। इस दौरान सैकड़ों की तादाद में उनके प्रशंसक मौजूद रहे। वहीं उन्होंने जिला कलेक्ट्रेट स्थित टैगोर हॉल में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर मीडिया से बातचीत की।

कई बाबाओं के दुष्कर्म के मामलों मे फंसने के मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि वस्त्र से नहीं बल्कि चरित्र से साधु होता है। जो कोई भी मर्यादा का अतिक्रमण करेगा उसे सजा मिलनी चाहिए। धर्म को कलंकित करने वाले साधुओं को चौराहे पर फांसी पर लटका देना चाहिए। इसमें सुधार के लिये आवश्यक है कि जितने भी मत पंथ संप्रदाय है कि उनके आचार्यों को चाहिए कि हर किसी को दीक्षा देने से बचें।

उन्होंने कहा कि जिस तरह से जनप्रतिनिधियों जैसे एमएलए, एमपी, सीएम, पीएम का एक प्रोटोकॉल होता है, इसी प्रकार की मर्यादा साधुओं की भी है। खुद को साधु कहने वालों को इसका पालन करना चाहिए। बाबा ने कहा कि केवल भगवा वस्त्र पहनने से कोई साधु नहीं बन जाता है। उन्होंने कहा कि उनका आचरण और चरित्र भी उच्च किस्म का होना होना चाहिए। धर्माचार्यों को भी चाहिए कि वे ऐसे संन्यासियों की गारंटी लें, मैं अपने गुरुकुल के सभी सदस्यों की गारंटी स्वयं लेता हूं

बाबा रामदेव ने कहा, “जो भी सीमा का अतिक्रमण करता है, उसे ना सिर्फ जेल भेजा जाना चाहिए बल्कि उसे फांसी पर चढ़ा देना चाहिए, इससे किसी तरह का समझौता नहीं किया जाना चाहिए। भगवा पहनकर साधु बनने वालों पर उन्होंने तंज कसते हुए कहा, “हर पेशे का एक दायरा होता है, हर काम के लिए एक प्रोटोकॉल होता है, ऐसा ही बाबाओं के साथ भी है, कोई सिर्फ इसलिए बाबा नहीं हो जाता क्योंकि उसने भगवा वस्त्र धारण किया है|

योग गुरु  बाबा रामदेव की ये टिप्पणी चर्चित दाती महाराज पर रेप के आरोप लगने के बाद आए हैं। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच इस केस की जांच कर रही है। इधर दिल्ली पुलिस ने अपनी एक अनुयायी के साथ बलात्कार करने के आरोप को लेकर मंगलवार (19 जून) को स्वयंभू संत दाती महाराज से 7 घंटे से ज्यादा पूछताछ की। पुलिस ने बताया कि दाती महाराज को नोटिस भेजकर बुधवार तक जांच में शामिल होने के लिए कहा गया था। वह 19 जून दोपहर करीब ढाई बजे अपराध शाखा के कार्यालय पहुंचे और उनसे 7 घंटे से ज्यादा पूछताछ की गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here