सबसे सस्ता ‘फ्रीडम 251’ फोन देने का दावा करने वाली कंपनी का मालिक बलात्कार मामले गिरफ्तार

0
239

नई दिल्ली: विश्व का सबसे सस्ता स्मार्टफोन ‘फ्रीडम 251’ उपलब्ध कराने का दावा करने वाली कंपनी रिंगिंग बेल्स के मालिक मोहित गोयल को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इनकी गिरफ्तारी बलात्कार के एक मामले को रफादफा करने की आड़ में जबरन वसूली करने के आरोप में हुई है। रिंगिंग बेल्स ने 2016-17 में लोगों को महज 251 रुपए में स्मार्ट फोन देने का सपना दिखाया था।

अपने सपने को पूरा करने के लिए कंपनी के मालिक मोहत गोयल ने करोड़ो रुपये लोगों से अग्रिम भुगतान के तौर पर वसूल लिए थे। हालांकि, सस्ता फोन देने की घोषणा करने के कुछ दिनों बाद ही रिंगिंग बेल्स को लेकर तमाम तरह की खबरें सामने आने लगीं। ऑनलाइन बुकिंग होने के कारण कंपनी की वेबसाइट कई बार क्रैश भी हुई थी जिस कारण लोग अपना फोन बुक कराने के लिए कंपनी ने नोएडा के सेक्टर 63 दफ्तर में पहुंचने लगे थे।

सिर्फ 251 रुपये में स्मार्टफोन लॉन्च करके कंपनी रातों रात सुर्खियों में में आ गई थी। बाद में कंपनी पर कई तरह के धोखाधड़ी के आरोप लगने शुरू हो गए थे। धोखाधड़ी करने और फोन डिलिविर न करने के मामले में पुलिस ने मोहित गोयल को गिरफ्तार भी किया था और लगभग 6 महीने जेल रहने के बाद वह जमानत पर रिहा हो गए थे।

आपको बता दें कि फ्रीडम 251 के लॉन्च से पहले शुरुआती कुछ दिनों के दौरान अपना एक कॉल सेंटर भी खोला था और लाखों की संख्या में कॉल भी अटेंड किए थे। बाद में जब लोगों को इस पर शक हुआ तो उन्होंने अपने पैसे लौटाने की मांग की। इसके बाद रिंगिंग बेल्स ने अचानक अपना कॉल सेंटर बंद कर दिया था।

जानकारी के मुताबिक मोहित गोयल के साथ-साथ पुलिस ने कई और लोगों को भी गिरफ्तार किया है। इससे पहले पंजाब पुलिस ने मोहित के भाई अनमोल गोयल की तलाश में शुक्रवार देर रात छापेमारी की। जानकारी के मुताबिक, पंजाब पुलिस के आने की भनक लगते ही आरोपी फरार हो गए। कोतवाली प्रभारी अवनीश गौतम ने बताया कि पुजाब पुलिस यहां दबिश देने आई थी। आरोपी मौके पर नहीं मिला, जिस कारण टीम वापस लौट गई।

कंपनी ने कुछ दिन बाद दावा किया था कि 25 लाख फोन बुक किए गए और जल्दी ही सस्ता स्मार्ट टीवी लाने की बात भी की थी। कंपनी ने दावा किया था कि जून 2016 तक फोन उपलब्ध करवा दिए जाएंगे। हालांकि, कुछ दिनों के बाद ही बवाल बढ़ते देख कंपनी ने प्री-बुक करवाने वाले ग्राहकों के पैसे लौटाने की बात कह दी। 21 मार्च को भाजपा नेता किरीट सोमैया की शिकायत पर रिंगिंग बेल के मालिक मोहित गोयल और अशोक चड्ढा के खिलाफ नोएडा फेज-3 पुलिस स्टेशन में धोखाधड़ी और आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था।

बाद में कंपनी के डायरेक्टर मोहित गोयल ने डायरेक्टर का पद छोड़कर अपने भाई को कंपनी की कमान सौंप दी। इस बीच मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच ने इस कंपनी को क्लीन चिट भी दे दी। हालांकि, इस 23 फरवरी 2016 को मोहित को 16 लाख रुपये की पेमेंट के विवाद में गाजियाबाद पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। हालांकि, बाद में वह छूट गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here